Anil Agarwal Biography, Age, Income, Net worth, House, Family & More

Quick Info about Anil Agarwal:-

पूरा नाम अनिल अग्रवाल (Anil Agarwal)
जन्म तिथि (Date of birth) 24 जनवरी 1954
जन्मदिन 24th जनवरी
उम्र (Age) 67 साल (2021)
ऊंचाई (Height) 5’9″ फीट
Net Worth 2021 $384 करोड़ अमरीकी डालर (लगभग)
पत्नी का नाम (Wife Name) किरन अग्रवाल
राष्ट्रीयता भारतीय
जन्म स्थान पटना, बिहार

Table of Contents

अनिल अग्रवाल की जीवनी हिंदी में (Anil Agarwal Biography in Hindi)

देश के टॉप सफल उद्योगपति की लिस्ट में शामिल होने वाले वेदांता फाउंडेशन के चेयरमैन श्री अनिल अग्रवाल जन्म 24 जनवरी सन् 1954 में बिहार की राजधानी पटना में हुआ था।

इनकी जिंदगी देश के सभी युवाओं को सीख देती है कि संघर्ष, मेहनत, तथा लगन के सहारे एक कबाड़ी भी करोड़पति बन सकता है।

अनिल अग्रवाल का जन्म एक मध्यमवर्गीय बिहारी परिवार में हुआ था। इनका पचपन चुनौतियों से भरा हुआ रहा और सिर्फ 15 साल की उम्र में संघर्ष करना शुरू कर दिया था।

इनके पिता जिनका नाम द्वारका प्रसाद अग्रवाल था वो एक छोटे से बिजनेस से अपने घर की सारी जरूरतें पूरी कर रहे थे। इस छोटे से बिजनेस में वो एल्युमिनियम का कार्य करते थे जिसमें एल्युमिनियम के कंडक्टर (aluminium conductors) बनाने का कार्य किया जाता था।

अनिल अग्रवाल की Wiki/bio/info हिंदी में

निक नेम (अनिल)
जाति (अग्रवाल)
उप जाति बनिया समुदाय
जाति श्रेणी जनरल (Gen.)
धर्म हिन्दू (Hindu)
नागरिकताभारतीय
जन्म तिथि 24 जनवरी सन् 1954
जन्म स्थान पटना
राज्य बिहार
राशि चिन्ह मेष राशि (Aries)
भाषाएं बिहारी, हिंदी, अंग्रेज़ी
घर पटना, बिहार
निवास का पता (Residence address)मुंबई
प्रसिद्ध है वेदांता फाउंडेशन (Vedanta foundation)
उपाधि (Known as)उद्योगपति (Industrialist)
वर्तमान स्थान और अपडेटलंदन
Anil Agarwal Biography

अनिल अग्रवाल का जीवन परिचय और प्रारंभिक जीवन (Anil Agarwal life introduction & Early life)

अनिल अग्रवाल के जीवन की शुरुआत पटना बिहार से हुई और शिक्षा के लिए उस समय पटना में उतनी उन्नति नहीं हुई थी लेकिन किसी प्रकार इनके पिता द्वारका प्रसाद अग्रवाल जी ने शिक्षा संबंधी सभी सामग्री की व्यवस्था कर अनिल अग्रवाल को एक सरकारी स्कूल में दाखिला दिलवाया और इनकी प्रारंभिक शिक्षा को जारी रखा।

अनिल अग्रवाल लगभग 13-14 साल की उम्र में अपने परिवार की स्थिति को अच्छी तरह समझ चुके थे।

सन् 1960 में इनके पिता ने अपना व्यापार शुरू किया था और 8 साल बाद सन् 1968 में इस बिजनेस द्वारा कोई विशेष बृद्धी नहीं हुई और इनके पिता एल्युमिनियम के इस व्यापार से अभी भी कमाई कर रहे थे लेकिन अकेले इसमें सफल होना इतना संभव भी नहीं लग रहा था, कारणवश अनिल अग्रवाल ने अपनी शिक्षा को बिराम दिया और महज 15 साल की उम्र में अपने पिता के बिजनेस में हाथ बटाने लगे। इसका एक कारण यह भी था की इनके घर से स्कूल की दूरी करीब 10 किलोमीटर थी और इस दूरी को पैदल ही तय करना होता था, जिसके कारण कहीं न कहीं ये दूरी उनके नियमित शिक्षा में वाधा दाल रही थी।

लेकिन अनिल अग्रवाल के पिता द्वारका प्रसाद अग्रवाल इस प्रकार के संघर्ष से पहले ही रूबरू हो चुके थे और वे हरगिज़ नहीं चाहते थे की उनके बेटे को शिक्षा के लिए इतना संघर्ष करना पड़े, इसीलिए इनके पिता ने एक नई साइकिल उपहार में दी और अपने बेटे को नियमित शिक्षा जारी रखने को कहा।

लेकिन अपने पिता को अकेले बिजनेस करते देख अनिल अग्रवाल इसी बिजनेस में वृद्धि करना चाहते थे जिससे उनके परिवार का विकास हो सके और इसी धारणा को रखते हुए अपने पिता के साथ व्यापार करने में रुचि दिखाई।

अनिल अग्रवाल ने प्राइमरी से हॉयर सेकेंडरी स्कूल तक की पढ़ाई कर ली थी और इसके आगे की पढ़ाई पूरी होनी वाकी थी कि इन्होंने अपने स्कूल को छोड़ दिया और पूरा ध्यान अपने इसी बिजनेस पर लगाया। अनिल अग्रवाल हार्डवेअर का काम भी करने लगे जैसे लोहे के घरेलू सामान बनाना, गेट बनाना,लोहे की जाली बनाना आदि।

जैसे जैसे अनिल कुमार बड़े हुए वैसे ही उन्हें ये समझ आ गया कि इस बिजनेस में कितनी भी मेहनत कर लें लेकिन इसके सहारे एक अच्छा जीवन नहीं मिल सकता।

और अपने कैरियर को सफल बनाने और परिवार की आर्थिक स्थिति को सुधारने हेतु इन्होंने नए व्यापार को लेकर योजना बनाई और पटना से पुणे रवाना हुए।

सन् 1970-71 में इन्होंने स्क्रैप मेटल का कार्य शुरू किया और धीरे धीरे इनकी योजना में अच्छा भविष्य नजर आने लगा।

सन् 1975 में 21 साल की उम्र में अनिल अग्रवाल की किरण गुप्ता (kiran Gupta) नाम की लड़की से शादी हो गई।

जब इन दोनों की शादी हुई तब किरन गुप्ता की उम्र 16 साल थी और अनिल अग्रवाल की उम्र 21 साल!

बाद में अनिल अग्रवाल पुणे से मुंबई आ गए और अपने बिजनेस को बढ़ावा देकर लगभग 2 साल बाद सन् 1976-77 में एक शैमशर स्टर्लिंग नामक कॉर्पोरेशन को खरीद लिया।

अनिल अग्रवाल की शैक्षणिक योग्यता (Anil Agarwal education qualification)

प्राइमरी तथा हॉयर स्तर की शिक्षा पटना मिलर स्कूल से पूरी हुई तथा हॉयर सेकेंडरी को पास करने से पहले ही इन्होंने स्कूल को छोड़ दिया था।

प्राथमिक शिक्षाउत्तीर्ण
माध्यमिक शिक्षाअधूरा (Incomplete)
विद्यालय का नाममिलर हाई स्कूल पटना, बिहार
पासिंग डेट 1969
कॉलेज/विश्वविद्यालय का नाममालवीय इंजीनियरिंग कॉलेज

अनिल अग्रवाल का करियर (Anil Agarwal Career)

अनिल अग्रवाल के इस 1960-1976 तक के बिजनेस कैरियर में काफी उतार चढ़ाव सामने आए लेकिन 1976 में शैमशार स्टर्लिंग कॉर्पोरेशन को खरीद कर सफलता का दूसरा सबसे बड़ा कदम रखा।इसी समय अनिल अग्रवाल ने अपने जीवन का  दूसरा फाउंडेशन Vedanta Foundation की स्थापना की।

शमशेर स्टर्लिंग कॉर्पोरेशन (Shamsher sterling corporation) के बाद इन्होंने तांबे का काम को भी आगे बढ़ाया और बैंक से लोन लेकर वाकी कमियों को पूरा करते हुए अपने दोनो व्यवसाय में काफी सुधार भी किया।

लगभग 10 साल बाद अनिल अग्रवाल ने अपनी कंपनी के सभी कार्यों को ढंग से परख और सही जांच की, जिसमें उन्हें पता चला की उत्पादन (manufacturing) के कार्य में विकास (growth) करना वाकी है क्योंकि वाकी अन्य विदेशी निर्माण कंपनियां इससे आगे निकलने लगी थी।

बैंक का ये ऋण (loan) मुख्यत अपनी वर्षों की योजना, Vedant Foundation को विधिवत रूप से चलाने के लिए लिया था।

अनिल अग्रवाल ने अपने काम का अलग रास्ते चुना और लगातार बेहतरीन परिणामों के साथ सन् 1993 में अनिल अग्रवाल की shamsher sterling corporation कंपनी भारत की सबसे बड़ी पहली प्राइवेट कॉपर और एल्युमिनियम स्मेल्टर (copper & aluminium smelter) कंपनी बनी।

अनिल अग्रवाल की इस सफलता पर उनके सभी चाहने वालों ने खुशी मनाई और ये कारनामा पूरे बिहार के लिए गौरव की बात थी, लेकिन इतने संघर्ष से मिली इस सफलता पर फिर से बूरा समय व्यतीत होने लगा। इसके 2 साल बाद सन् 1995 में इनकी इस शमशेर स्टर्लिंग कॉर्पोरेशन पर ताला लगने जा रहा था। दरअसल कार्य में किसी प्रकार की छेड़छानी का आरोप लगते हुए इनके कार्य पर सवाल उठना शुरू हो गए।

लेकिन वेदांता फाउंडेशन का समूह प्रतिदिन मजबूत होता जा रहा था और सन् 2001 तक इस फाउंडेशन ने पूरे एशिया में एक अलग पहचान बनाई।

इसी सफलता को ध्यान में रखते हुए अनिल अग्रवाल और वेदांत ग्रुप टीम ने इसे लंदन में मुख्य शाखा के रूप में खोलना चाहा और सफलता के तीन साल बाद सन् 2003 में Vedanta foundation को लंदन में स्थापित कर दिया।

आज वेदांता समूह पूरी दुनिया में धातु के तार (metal wire) तथा प्राकृतिक संसाधन के लिए जाना माना नाम बन चुका है और ये भारतीय कंपनी लंदन में स्थित सबसे भरोसेमंद ब्रांड है जिसने वाकी दूसरी कंपनी के मुकाबले दोगुना ज्यादा सेल्स की हैं।

अनिल अग्रवाल की घर,परिवार संबंधी जानकारी (Anil Agarwal’s family information)

पिता का नामद्वारका प्रसाद अग्रवाल
माता का नाम समीक्षा के अंतर्गत (Under Review0
पत्नी का नाम किरन अग्रवाल
भाईनवीन अग्रवाल
बच्चे1 बेटा और 1 बेटी
बेटे का नाम (Anil Agarwal’s son)अग्निवेश अग्रवाल
बेटी का नामप्रिया अग्रवाल

अनिल अग्रवाल का व्यवसाय विवरण (Anil Agarwal’s business details)

  • वेदांता फाउंडेशन
  • जेली भरे हुए केबल निर्माण
  • शमशेर स्टर्लिंग कॉर्पोरेशन (Shamsher Sterling corporation)
  • प्राकृतिक संसाधन
  • तेल, गैस आदि

The Vedanta Foundation (वेदांता फाउंडेशन)

5 साल पुरानी योजना का शुभारंभ 1976 में वेदांत फाउंडेशन (Vedanta foundation) के रूप में किया गया।

ये उस समय की बहुत छोटी कंपनी थी जिसे एक किराए के मकान में शुरू किया और अपनी सफलता की पहली चड़ाई चड़ी।

इनका ऑफिस इतना छोटा था जिसे देख ये अंदाजा नहीं लगाया जा सकता था कि ये फाउंडेशन का कोई भविष्य भी होगा ।

इन्होंने लोकल कार्य शुरू अपने पड़ोसी सभी राज्यों से स्क्रैप मेटल खरीदे और और मुंबई में सेल करके लगभग 10 साल तक इसी तरह अपने व्यापार को आगे बढ़ाया।

 इन्होंने इस फाउंडेशन को शुरू करने हेतु काफी संघर्ष किया था, बैंक से loan लेने के लिए अनिल अग्रवाल हमेशा बैंक मैनेजर से request किया करते थे लेकिन उनके loan की कोई उम्मीद नहीं दिख रही थी काफी दिन बैंक में जाने के बाद आखिरकार एक दिन इनका loan success हुआ,

इन पैसों को उन्होंने वेदांत फाउंडेशन (Vedant foundation) की समस्त प्रकार की पूर्ति करने हेतु लगा दिए।

इसका मुख्यालय लंदन में स्थित है।

वेबसाइट:- www.vedantaresources.com

अनिल अग्रवाल का विवाद (Anil agarwal Controversy)

वर्ष 2004 वेदांता फाउंडेशन और अनिल अग्रवाल के लिए बहुत साबित हुआ।

दरअसल इनकी इस कंपनी में हो रहे उत्पादन को वातारण का एक बड़ा प्रदूषक मानते हुए भारतीय सर्वोच्च न्यायालय ने इसपर रोक लगा दी।

इसके मटेरियल पर सुधार के कुछ समय बाद वेदांता फाउंडेशन पर आरोप लगाया गया कि ये भारत सरकार को उचित टैक्स नहीं देती है फलस्वरूप फिर से इसपर सवाल उठना शुरू हो गए।

इस तरह के कई विवाद इनके इस व्यापार में होते रहे।

अनिल अग्रवाल की आय, वेतन और नेट वर्थनकम तथा नेटवर्थ (Anil Agarwal Income, Salary and Net worth)

वर्तमान में अनिल अग्रवाल की आय का ज्यादातर हिस्सा London से आता है और भारत के व्यवसाय से भी इन्हे अच्छा मुनाफा हुआ है साल 2020 में इनका नाम टॉप उद्योगपति की सूची में शामिल हुआ।

2021 के डेटा के अनुसार अनिल अग्रवाल $384 करोड़ अमरीकी डालर (लगभग) संपत्ति के मालिक हैं

(Anil Agarwal net worth is $384 Crores USD (Approximately) )

अनिल अग्रवाल द्वारा किए गए महान कार्य (Anil Agarwal Great social works)

उनके द्वारा दिया गया दान जिसने पूरी दुनिया को सोचने पर मजबूर कर दिया।

बात साल 2014 की है जब अनिल अग्रवाल ने भारत की शिक्षा प्रणाली को सुधारने और जन कल्याण के लिए अपनी कमाई का 75% से भी ज्यादा हिस्सा दान कर दिया, ये रकम 21000 करोड़ भारतीय रुपयों से भी ज्यादा की थी। आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि इतना दान करने वाला व्यक्ति कोई साधारण व्यक्ति नहीं हो सकता।

इसके अलावा अनिल अग्रवाल ने कई बार देश के लिए दान दिया और जनकल्याण में आर्थिक मदद हेतु सबसे आगे आए!

covid-19 में लोगों के हित में अनिल अग्रवाल का योगदान व लोक कल्याण

देश में कोरोना वाइरस की महामारी में लाखों लोग इसकी चपेट में आए और सिर्फ भारत ही नहीं वल्कि पूरी दुनिया की economy काफी नीचे गिर चुकी है लेकिन इस बार भी खुद के परिवार और संपत्ति का न सोचते हुए अनिल अग्रवाल ने अपने देश के लिए 100 करोड़ रुपए की राशि दान की ।

यह योगदान भारत सरकार और भारतवासी के भविष्य के लिए बहुत बड़ा योगदान साबित हुआ।

इसकी जानकारी देते हुए उन्होंने एक ट्वीट किया जिसमें लिखा था #DeshKiZaroortonKeLiye

पत्नी के साथ अनिल अग्रवाल (Anil Agarwal with his Wife)

Anil Agarwal with wife Kiran Agarwal (किरन अग्रवाल)

अनिल अग्रवाल के विचार (Anil Agarwal’s thoughts)

      “किसी भी असंभव लक्ष्य को प्राप्त करने से पहले उसकी कल्पना करना चाहिए तत्पश्चात् पूर्ण आंकलन और प्रतिबद्धता के साथ अपने लक्ष्य को पाने के लिए आगे बढ़ना चाहिए “

अनिल अग्रवाल की उम्र, ऊंचाई, वजन और व्यक्तिगत जानकारी (Anil Agarwal age, height, weight & Personal information)

अनिल अग्रवाल उम्र67 साल
ऊंचाई (height)5’9 फीट, 175.2 सेमी, 1.78 मीटर
वज़न (Weight)69 किलोग्राम
त्वचा के रंगसफेद
आंख का रंगभूरा
बालों का रंगग्रे से सिल्वर
बालों की शैली (Hair style)साधारण छोटे बाल
जूते का नंबर (Shoe number)7.2UK

अनिल अग्रवाल के पुरस्कार (Anil Agarwal Awards)

  • सन् 2012 में बिजनेस लीडर अवार्ड से सम्मानित किया गया।
  • सन् 2016 में अनिल अग्रवाल को वर्ष के उद्यमी के asian awards से नवाजा गया।
  • 2008 में युवा व्यवसायी (young entrepreneur) का अवॉर्ड मिला
  • लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से अनिल अग्रवाल को 2009 में सम्मानित किया गया था।
  • इनके द्वारा चलाई गई योजनाओं जैसे नंद घर के लिए अवॉर्ड से सम्मानित किया। आदि

अनिल अग्रवाल के वर्तमान अपडेट (Anil Agarwal Current Updates)

अनिल अग्रवाल का घर अथवा स्थाई पता पटना बिहार है, लेकिन पिछले कई सालों से इनका निवास स्थान इंग्लैंड में रहा, वर्तमान में ये अपने परिवार के साथ लंदन में ही रहते हैं

अनिल अग्रवाल का संपर्क विवरण (Anil Agarwal’s Contact details)

अनिल अग्रवाल मोबाइल नंबर – 9910483700

ट्विटर अकाउंट – https://twitter.com/anilagarwal_ved?lang=en

इंस्टाग्राम अकाउंट – https://www.instagram.com/bbiinnuuu/?hl=en

फेसबुक अकाउंट – https://www.facebook.com/public/Anil-Agarwal

Mail id – [email protected]

पता (Address)- पिपलावन 3/8 पटना, पिनकोड-801109 (बिहार, भारत)

वर्तमान पता (Current address) – E1 7BH, एल्डगेट लंदन, ज़िप कोड -533489 (इंग्लैंड)

अनिल अग्रवाल के गुप्त तथ्य (Secret facts of Anil Agarwal)

  • अनिल अग्रवाल को बाहर घूमने का शौक है।
  • इन्हे अपने परिवार और दोस्तों के साथ समय व्यतीत करने में सबसे ज्यादा आनंद आता है।
  • अनिल अग्रवाल अपनी संपत्ति को देश हित में लगने पर ही इसे महत्व देते हैं।
  • लोगों की भलाई के लिए इन्होंने अपने परिवार की आर्थिक विकास तक को रोक दिया था।
  • अनिल अग्रवाल एक ऐसे भारतीय हैं जिनकी गिनती लंदन के टॉप उद्योगपति में की जाती है।
  • अनिल अग्रवाल को अंग्रेजी भाषा में सबसे ज्यादा समस्या हुई है और इंग्लिश में कमजोर होने के कारण कई बार निराशा भी हाथ लगी थी।
  • इन्होंने शिक्षा सुधार के लिए तमाम प्रयास किए जिनमें से सभी प्रयास सफल हुए।

FAQ

Q. Vedanta foundation के चेयरमैन कौन है?

Ans. अनिल अग्रवाल

Q. Vedanta foundation कहां स्थित है?

Ans. लंदन

Q. अनिल अग्रवाल कौन है?

(Whos is Anil Agarwal)

Ans. एक भारतीय व्यापारी तथा उद्योगपति

Q. Shamsher sterling corporation के चेयरमैन या फाउंडर कौन है?

Ans. अनिल अग्रवाल

Q. अनिल अग्रवाल के बिजनेस में क्या कार्य किया जाता है?

Ans. कॉपर, एल्युमिनियम तार, गैस/तेल प्राकृतिक संसाधनों का संचालन करता है

Q. अनिल अग्रवाल की पत्नी का क्या नाम है?

Ans. किरन गुप्ता

Q. अनिल अग्रवाल की बेटी का क्या नाम है?

Ans.प्रिया अग्रवाल

Q. अनिल अग्रवाल के बेटे का क्या नाम है?

Ans. अग्निवेश अग्रवाल

Q. अनिल अग्रवाल का जन्म कब हुआ था?

Ans. जनवरी सन् 1954 में

Q. अनिल अग्रवाल का जन्म कहां हुआ था?

Ans. पटना, बिहार में

Q. क्या अनिल अग्रवाल मादक पेय (alcoholic drinks) करते हैं?

Ans. हाँ (Not Sure)

Q. क्या अनिल अग्रवाल धूम्रपान करते हैं?

Ans. नहीं

DISCLAIMER: अनिल अग्रवाल (Anil Agarwal) के बारे में उपरोक्त विवरण विभिन्न ऑनलाइन रिपोर्टों से प्राप्त किया गया हैं। वेबसाइट आंकड़ों की 100% सटीकता की गारंटी नहीं देती है। सभी तस्वीरें सोशल मीडिया अकाउंट से ली गई हैं।

Leave a Comment

error: Content is protected !!